छाती का कैंसर का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Breast Cancer ]

0 909

ब्रायोनिया 3 — यदि छाती (स्तन) पर कोई गांठ-सी हो जाए और उस गांठ को दबाने से दर्द होता हो, दुखन होती हो, किंतु यह निश्चय न हो पाए कि वह कैंसर है। या नहीं, तो यह औषधि 3 शक्ति में प्रति 8 घंटे दें।

कैल्केरिया आयोडाइड 3x — यदि छाती की गांठ दबाने से न दुखे, न ही उसमें किसी प्रकार का दर्द या पीड़ा हो, तो इस औषधि की 4-5 बूंद प्रति 8 घंटे दें।

आर्स आयोडाइड 3x — यदि रोगी दिनों-दिन कमजोर होता जाए और स्तन की गांठ भी बढ़ती जाए, तो इसकी 2 ग्रेन मात्रा दिन में 3 बार नित्य भोजन के साथ सेवन कराएं।

क्रार्सिनोसीनम 200 — जब यह पक्का निर्णय हो जाए कि अमुक गांठ कैंसर की ही है, तो इसकी 1 मात्रा प्रति पखवाड़े देते रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.