कैंसर युक्त ट्यूमर का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Cancer Tumours ]

0 586

कोनायम 30 — स्तनों के ट्यूमर या स्तनों में कैंसर जैसी कड़ा होने की प्रवृत्ति आरंभ होने पर यह औषधि लाभप्रद है। यह अंडकोषों, जरायु और त्वचा के कैंसर में भी अत्यंत उपयोगी है।

आर्सेनिक 30 — हड्डी या त्वचा का कैंसर हो अथवा किसी भी प्रकार का ट्यूमर हो, उसमें लाभकारी है।

लैपिस एलबस 6 — गर्भाशय के घातक कैंसर के कारण जब उससे काला, गंधयुक्त स्राव निकले, तीव्र दर्द की अनुभूति हो, पेट अथवा गर्भाशय में चुभने और जलन वाला दर्द हो, तब यह उपयोगी है तथा ट्यूमर की गांठे बन जाने में भी यह लाभ करती है।

हाइड्रेस्टिस 30 — यह ट्यूमर की वृद्धि को रोकती है, छाती की ग्रंथियों के ट्यूमर में विशेष लाभकारी है। त्वचा तथा गर्भाशय के कैंसर में उपयोगी है। कैंसर-रोग में सर्वाधिक लाभप्रद है।

रेडियम 30 — कैंसर बनने से पहले की अवस्था में इससे लाभ होता है।

कार्बो ऐनीमैलिस 3 — साधारण कैंसर, स्तनों के कैंसर, स्तनों की गांठों में दर्द होना, जरायु के मुंह में कैंसर की उत्पत्ति; ग्रंथियों में गांठों के पड़ जाने में अत्यंत उपयोगी है।

कौंड्रयूगो 1X — हर प्रकार के कैंसरों और कैंसरयुक्त ट्यूमरों में, अल्सर में तथा पेट के कैंसर में सर्वथा उपयोगी औषधि है। होम्योपैथिक की कोई अन्य औषधि इसका मुकाबला नहीं कर सकती।

Leave A Reply

Your email address will not be published.