गर्दन में अकड़न का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Remedies For Neck Stiffness ]

0 965

गरदन की पेशी पर यदि इस रोग का हमला होता है, तो उसे “स्टिफ-नेक” कहते हैं। इसमें गरदन की स्टर्नो-क्लाइडो-मैस्टॉपेड-पेशी आक्रांत होती है; उस पेशी में दर्द, सूजन और खिंचाव मालूम होता है। रोगी गरदन नहीं घुमा सकता, गरदन एक ओर खिंची रहती है। इस रोग में मर्क्युरियस वाइवस 12 बहुत लाभ पहुंचाती है। यदि इससे लाभ न हो तो, तो ब्रायोनिया 6 या 30 को इस्तेमाल करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.