Browsing Category

Eye Disease

मोतियाबिंद का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Cataracts ]

वृद्धावस्था के कारण आंख की पुतली पर एक तरह का पर्दा-सा पड़ जाता है, इससे धीरे-धीरे नजर कमजोर हो जाती है और फिर बिल्कुल भी दिखाई नहीं देता। वस्तुतः आंख की पुतली एक प्रकार का लैंस है, जिसमें से बाहर की वस्तुओं की शक्ल गुजरकर आंख के भीतरी…

आंखों की सूजन का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Remedies For Chorioretinitis, Inflammation of the…

तीन परतों में लिपटा हुआ होता है आंख का गोलक! पहली परत बाहर की परत है, जो सफेद, मोटी और दृढ़ होती है, जिससे आंख की गोल शेप बनती है। इसे शुभ्र-पटल कहते हैं। इसके बाद दूसरी परत एक पर्दा होता है, यह काला होता है। इसे कृष्ण-पटल कहते हैं। इस…

दृष्टि के क्षीण होने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Failing Vision ]

यदि दृष्टि लगातार क्षीण होती जा रही हो, तो फौरमिक एसिड 6x या 12x बहुत उपयोगी है। किसी वस्तु (चीज) की ओर थोड़ी देर तक देखने से ही दृष्टि क्षीण हो जाए, तो कैल्केरिया कार्ब 6 या नैट्रम म्यूर 30 का प्रयोग करना चाहिए। एक फ्रांसीसी होम्योपैथ…

आंख पर दबाव का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Eye Strain ]

आंख पर दबाव के बहुत से कारण हो सकते हैं, जिन सबको जानना बहुत कठिन कार्य है। बहरहाल आंख पर दबाव किसी भी कारण से हो, तो पाइलोकारपस जिसे जेबोरेंडी भी कहते हैं, इस रोग की प्रमुख औषधि है। इसे 3 शक्ति में देना चाहिए। इसका शीघ्र प्रभाव पड़ता है।

आंख में पीड़ा का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Pain in Eyes ]

यदि पढ़ने या लिखने के समय आंख में पीड़ा हो, तो रूटा 3 देने से लाभ हो जाता है। इसका लोशन तैयार करके आंखें भी धोनी चाहिए। लोशन तैयार करने के लिए इसकी 10 बूंद को 1 औंस पानी में डालनी चाहिए। यदि आंखें रक्त की भांति लाल-लाल हो जाएं और उनमें दर्द…

जाल दृष्टि का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Treatment For Muscae Volitantes ]

बहुत से लोगों को आंख के सामने मच्छर-सा उड़ता अथवा तैरता-सा दिखाई देता है। पहले तो रोगी समझता है कि वास्तव में आंखों के सामने कोई मच्छर उड़ रहा है। वह उसे हाथ से भगाने की कोशिश करता है, लेकिन बाद में उसे ज्ञात होता है कि कोई मच्छर इत्यादि…

रतौंधी का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Night Blindness, Nyctalopia ]

बहुत से मनुष्य मद्धम रोशनी में (या सूर्यास्त से सूर्योदय तक) बिल्कुल ही नहीं देख पाते हैं, इसी का नाम "रतौंधी" है। यदि हल्की रोशनी में दिखाई न दे, तो फाइसोस्टिग्मा 3 से लाभ होता है। जिगर की गड़बड़ी के कारण यह रोग हुआ हो, तो नक्सवोमिका 30,…

दिनौंधी का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Day Blindness, Hemeralopia ]

बहुत से मनुष्यों को तेज रोशनी में दिखाई नहीं देता। यह भी आंखों का एक रोग ही है। यह रोग होने पर जब तेज रोशनी में दिखाई न दे, तो बौथरौप्स 30 का सेवन करना चाहिए। यह लैकेसिस की तरह सर्प-विष हैं और इस रोग की प्रमुख औषधि है। इसके अतिरिक्त सिलिका…

भैंगापन या टेढ़ा देखने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Crossed Eye, Squint,…

इसमें रोगी दाहिनी ओर, बाईं ओर यानी किसी ओर भी देखे, उसे सब टेढ़ा ही दिखलाई देता है। इसकी प्रधान औषधि जेलसिमियम 30 है। यदि इस औषधि से लाभ न हो, तो साइल्मे न 3 देकर देखना चाहिए। यदि एलोपैथिक की गरम या एंटीबायोटिक दवाओं के कारण यह रोग हुआ हो,…

डबल दिखाई देने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Double Vision, Diplopia ]

इस रोग में व्यक्ति को हर चीज एक की दो यानी डबल दिखाई देती हैं। किसी का चेहरा देखता है, तो वह भी दो दिखते हैं। किसी को रुपयों का नोट देता या लेता है, तो वह भी दो ही दिखाई देते हैं। यदि दाईं ओर मुंह करने से एक के दो दिखते हों, तो कॉस्टिकम 30…